आम आदमी पार्टी ने योगी सरकार से 3 माह की स्कूल फीस माफ करने की मांग की
आम आदमी पार्टी ने योगी सरकार से 3 माह की स्कूल फीस माफ करने की मांग की

Lucknow.  प्रदेश नेतृव के आव्हान पर आम आदमी पार्टी, लखनऊ ने कोरोना के कारण लॉकडाउन से आर्थिक रूप से प्रभावित परिवारों और अभिभावकों को बच्चों की 3 माह की फीस दे पाने में कठिनाइयों को देखते हुए प्रदेश सरकार से 3 माह की फीस माफ करने की मांग का ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा।

बता दें कि,  शिकायतें मिल  रही हैं कि बच्चों की फीस न जमा करने के कारण स्कूलों से नाम काटे जा रहे हैं और उन पर फीस जमा करने के लिए स्कूलों द्वारा दबाव डाला जा रहा है। अतः आम आदमी पार्टी ने योगी सरकार से मांग की है कि बच्चों की 3 माह की फीस माफ की जानी चाहिए और दूसरी जिन तरीकों से भी निजी स्कूल अभिभावकों का शोषण कर रहे हैं इस पर भी अंकुश लगाया जाए।

प्रवक्ता और जिला संगठन अध्यक्ष अजय गुप्ता ने कहा कि लॉकडाउन के कारण अभिभावक आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। लोगों के सामने परिवार चलाने का संकट है, इसलिए 3 माह (अप्रैल, मई, जून) की फीस माफ की जाय । निजी स्कूल हर वर्ष फायदे में रहते हैं। ऐसे में पूर्व की बचत से निजी स्कूलों के टीचर व अन्य कर्मचारियों को पूरी सैलरी दी जाए |

प्रदेश सचिव तुषार श्रीवास्तव ने मांग की प्रदेश के सभी निजी स्कूलों में NCERT की किताबों द्वारा ही पढ़ाया जाए और प्रतिवर्ष फीस बढ़ाने की प्रक्रिया पर रोक लगाई जाए। जिला संगठन उपाध्यक्ष अफरोज आलम ने  कहा कि बच्चों से एक ही विद्यालय में  प्रतिवर्ष रि-एडमिशन फीस पर रोक लगाई जाए तथा निजी स्कूलों के 3 वर्ष की बैलेंस शीट की जांच हो।

आम आदमी पार्टी को उम्मीद है कि योगी सरकार जनहित में उक्त समस्याओं के समाधान के लिए प्रभावी कदम उठाएगी। ज्ञापन देने वाले सदस्यों में ललित बाल्मीकि,पलाश यादव आदि सदस्य उपस्तिथ रहे।