प्रदेश के नोएडा कोरोना संक्रमित मरीजों के बढ़ते आंकड़ों के बीच कंटेनमेंट जोन का आंकड़ा भी लगातार बढ़ता जा रहा है। अब तक गौतमबुद्ध नगर जिले में 362 कोरोना पॉजिटिव केस मिल चुके हैं।
नोएडा में कोरोना संक्रमण के तीन नए मामले सामने आए, कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़कर 87 हुई

Noida. प्रदेश के नोएडा (Noida) कोरोना संक्रमित (Covid 19) मरीजों के बढ़ते आंकड़ों के बीच कंटेनमेंट जोन का आंकड़ा भी लगातार बढ़ता जा रहा है। अब तक गौतमबुद्ध नगर जिले में 362 कोरोना पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। बीते 24 घंटों में तीन और नए मरीज सामने आए, जिससे कंटेंटमेंट जोन की संख्या भी बढ़ाकर 87 कर दी गई है।

ग्रुप हाउसिंग सोसायटी (Group Housing Society ) में किसी एक व्यक्ति के कोरोना संक्रमित (Covid-19) मिलने पर हजारों लोग प्रभावित हो रहे हैं। इस पर जागरूक नागरिक संगठन के अध्यक्ष शैलेंद्र बर्नवाल ने ट्विटर के माध्यम से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath), डीएम सुहास एलवाई, प्राधिकरण के सीईओ रितु महेश्वरी से अनुरोध किया है कि ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी में किसी एक व्यक्ति के संक्रमित होने पर उसके फ्लैट को सील किया जाए और उसके पूरे परिवार को आइसोलेट  किया जाए। 

पूरी सोसाइट को न किया जाए सील

उन्होंने कहा कि संक्रमण (Covid 19) के बाद पूरे सोसाइटी के अंदर और बाहर अच्छी तरह से सैनिटाइज किया जाए। संक्रमित व्यक्ति के फ्लैट व फ्लोर और टावर को सैनिटाइज किया जाए। इस बाबत पूरी सोसाइटी को सील न किया जाए। उन्होंने कहा कि सोसाइटी के निवासियों की हालत प्रवासी मजदूरों की तरह न हो जाए।

सोसाइटी सील करने का हो रहा विरोध

सुपरटेक इकोविलेज वन में एक पॉजिटिव मरीज पाए जाने पर सोसाइटी को सील करने पर निवासियों ने विरोध जताया है। यहां भी मांग थी कि जिस टावर में मरीज मिला है, उसे ही सील किया जाए, लेकिन जिला प्रशासन ने पूरे सोसाइटी को सील कर दिया है। 

हालांकि भारी विरोध के बाद जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने हाईराइज सोसायटियों में जहां केस मिलेंगे, वहां एक टावर को ही सील करने का आदेश जारी कर दिया है।