अखिलेश यादव ने प्रदेश के अलग-अलग जनपदों में पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से सम्पर्क करके संगठनात्मक गतिविधियों की ली जानकारी
अखिलेश यादव ने  प्रदेश के नेताओं-कार्यकर्ताओं से सम्पर्क कर संगठनात्मक गतिविधियों की ली जानकारी

Lucknow. अखिलेश यादव ने जौनपुर (Jaunpur) में ऋषि यादव से वार्ता की। उनकी समाजवादी कुटिया गांव मोहउद्दीनपुर जौनपुर में हैं। जो शहर से 12 किलोमीटर दूर है।  ऋषि यादव (Rishi Yadav) ने बताया कि वे कोरोना संकट (coronavirus) काल में बच्चों को पढ़ाने के साथ उनके लिए दूध, फल, खाने का भी प्रबन्ध कर रहे हैं। गांव के सौ बच्चों से ज्यादा वहां पढ़ते हैं जिनमें दलित ज्यादा हैं। कई बच्चों ने देश भक्ति के गीत भी सुनाए। बच्चों ने मास्क (mask) लगा रखा था। उन्होंने मुस्लिम दिव्यांग परिवार के तीन सदस्यों को भी गोद ले रखा है। ऋषि यादव ने बताया कि उन्होंने गांव के 7 निर्धन बच्चों को गोद भी ले रखा है। बच्चे अखिलेश जी का चेहरा देखकर बहुत उत्साहित हो गए और उन्होंने अपने गांव आने का आमंत्रण भी दिया। अखिलेश यादव ने बच्चों को आशीर्वाद दिया और उन सबको किताबें तथा बैग देने का वादा किया।

समाजवादी पार्टी (SP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने मिर्जापुर (Mirzapur) के  रोहित शुक्ला से जब वीडियों काॅलिंग (video calling) से बात की तो वहां धावक सुभाष यादव, वॉलीबाल के अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी रोहित बिंद और विधानसभा क्षेत्र छानबे के गांव नगवासी की महिला प्रधान नितिका शुक्ला भी मौजूद थीं, जिन्होंने अखिलेश का अभिनंदन किया। शुक्ला ने गांव में रहते हुए मोबाइल पर ट्विटर एकाउंट भी बना रखा है।  गांव की प्रधान  नितिका शुक्ला ने बताया कि समाजवादी सरकार की "आई स्पर्श योजना" (Eye Sparsh)  के अंतर्गत गांव को स्मार्ट सिटी (smart city)  के तर्ज पर स्वावलम्बी और विकास का माॅडल (development model) बनाने की योजना थी। इसके अंतर्गत जो काम हुए वह समाजवादी सरकार में ही हुए। समाजवादी सरकार (samajwadi government) के कार्यकाल में यहां सीसीरोड सड़कें बनी, जल निगम की पानी की टंकी बनी, मंदिर का जीर्णोद्धार हुआ और अंत्येष्टि स्थल बना। भाजपा राज में गांव की उपेक्षा हो रही है। जनता परेशान है। पूरा गांव आपका आभारी है और आपके साथ है। हम सब समाजवादी पार्टी की सरकार आपके नेतृत्व में बनाएंगे।

डेयरी (Dairy) की योजना, स्कूल में बच्चों को फल निःशुल्क देने की व्यवस्था आई स्पर्श योजना में शामिल थी। समाजवादी सरकार में आई स्पर्श योजना गांव समग्र विकास से जुड़ी थी। इसमें सूचना प्रौद्योगिकी, कौशल विकास, पंचायती राज (panchayati raj) में लोगों की भागीदारी, कृषि (agriculture), साफ-सफाई, आवास, शिक्षा, सोलरलाईटिंग, शुद्ध पेयजल, विकलांगों को रोजगार तथा जनोन्मुख सरकार की दिशा में कार्य होना था। गांधी जी के ग्रामस्वराज की परिकल्पना को धरती पर लाने की दिशा में यह एक प्रयास था।

बलिया (Baliya) में  मनीष यदुवंशी से क्षेत्रीय स्थिति की जानकारी के बाद अखिलेश यादव ने समाज में सद्भाव रखने और किसी की बुराई न करने की सलाह दी। उन्होंने बूथ स्तर तक चुनाव तैयारियों के लिए मेहनत करने को कहा। आजमगढ़ के मेहनगर निवासी पंकज राजभर ने अपना घर दिखाया और संकल्प बताया कि साल 2022 में समाजवादी सरकार बनाएंगे। अखिलेश यादव ने उन्हें काम करते रहने के लिए कहा।

 

आजमगढ़ के कमलेश यादव दिव्यांग हैं, लेकिन पार्टी के कार्यों में सक्रिय रहते हैं। उन्होंने कहा हम अपना सौभाग्य समझते हैं कि आप उनके सांसद हैं। आप सबसे अच्छे नेता हैं। कमलेश यादव के साथ तमाम अन्य लोग भी मौजूद थे। उन्होंने बताया कि वे सब मजदूर हैं। झांसी के जगमोहन से भी संगठन की गतिविधियों पर वार्ता हुई।

मुरादाबाद के परवेज ने अखिलेश यादव के साथ अपनी पुरानी फोटो दिखाई और अपने परिवार के सदस्यों से भी बात कराई। गंगोह सहारनपुर के गांव बसी के मासूम बासी ने बताया कि इस बार आम की फसल का बहुत नुकसान हुआ है। जो आम गिरने से बचा है उसे पकने में पूरा जून महीना लग जाएगा। भाजपा सरकार ने परेशान किसानों की कोई मदद नहीं की।

लखनऊ विश्वविद्यालय के छात्र नेता हर्ष वशिष्ठ से बात हुई। उनकी मां ने कहा कि हम सब 2022 में समाजवादी सरकार बनवाएंगे। लखनऊ के अभिषेक श्रीवास्तव से यादव ने बात की। उनके पिता ने कहा कि भाजपा ने ऐसे हालात पैदा कर दिए हैं कि अब जरूर समाजवादी सरकार बनेगी। प्रयागराज के संदीप यादव ने कहा कि जनता का रूख समाजवादी पार्टी के पक्ष में बदला है। इस बार लोग ईमानदारी से समाजवादी पार्टी का साथ देंगे।