कांग्रेस महासचिव (Congress Chief Secretary) प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Wadra) ने केंद्र सरकार (Central Government) पर प्रवासी मजदूरों की अनदेखी का आरोप लगाया है।
श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में अब तक 80 मजदूरों की मौत, प्रियंका ने लापरवाही का लगाया आरोप

New Delhi. लॉकडाउन (Lockdown) में चल रही श्रमिक स्पेशल ट्रेनों (Shramik Special Train) में  मजदूरों (Labour) की मौत को लेकर अब राजनीति गरमा गयी है। इस मामले में कांग्रेस महासचिव (Congress Chief Secretary) प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Wadra) ने केंद्र सरकार (Central Government) पर प्रवासी मजदूरों की अनदेखी का आरोप लगाया है। प्रियंका ने कहा कि श्रमिक ट्रेनों की शुरू से उपेक्षा की गई। जबकि इस मौके पर श्रमिकों के साथ ज्यादा संवेदनशीलता के साथ काम लेना चाहिए।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारतीय रेलवे (Indian Railway) के अधिकारियों ने 9 से 27 मई के बीच का आंकड़ा पेश किया है। जिसमें श्रमिक स्पेशल ट्रेनों (Shramik Special Train) से सफर के दौरान 80 लोगों के मौत की बात सामने आयी है। आंकड़े के मुताबिक अब तक श्रमिक स्पेशल ट्रेन में 80 प्रवासी मजदूरों की मौत (Death) हो चुकी है। जिसमें एक शख्स की मौत कोरोना (Corona) और अन्य 11 लोगों की मौत पहले से ही किसी बीमारी होने के कारण हुई है। इस आंकड़े के सामने आने के बाद प्रियंका गांधी वाड्रा ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। 

प्रियंका गांधी की प्रतिक्रिया

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने ट्वीट (Tweet) करके कहा कि श्रमिक ट्रेनों में 80 लोगों की मृत्यु हो गई। 40 फीसदी ट्रेनें लेट चल रही हैं। कितनी ट्रेनें रास्ता भटक गईं। कई जगह यात्रियों के साथ अमानवीय व्यवहार की तस्वीरें हैं। इन सबके बीच रेल मंत्रालय का ये कहना कि कमजोर लोग ट्रेन से यात्रा न करें चौकाने वाला है।

अपने ट्वीट में प्रियंका ने लिखा कि श्रमिक ट्रेनों की शुरू से उपेक्षा की गई। जबकि इस मौके पर श्रमिकों के साथ ज्यादा संवेदनशीलता के साथ काम लेना चाहिए।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने सफर को लेकर जारी की थी एडवाइजरी

बता दें कि पिछले कुछ दिनों में श्रमिक ट्रेनों के रास्ता भटकने की कई तरह की खबरें आई हैं। वहीं, कई ट्रेनें ऐसी भी हैं, जो एक दिन का सफर चार या पांच दिन में तय कर रही हैं। मजदूरों की चिंता को बढ़ा रखा है। 

दूसरी तरफ स्वास्थ्य व गृह मंत्रालय की सलाह पर रेलवे की ओर से एडवाइजरी जारी कर कहा गया था कि बीमार, हाई ब्लड प्रेशर, हृदयरोग से ग्रसित, कैंसर पीड़ित और इम्यून डेफिसिएंसी वाले कमजोर लोग, गर्भवती महिलाएं, 10 साल की आयु से कम उम्र के बच्चे और 65 साल से अधिक आयु के बुजुर्गों को बहुत आवश्यक न होने पर यात्रा न करें।